श्री बाबा साधव राम शिक्षा विकास संस्थान, आजमगढ़ मण्डल का  का उत्कृष्ट शिक्षण संस्थान हैं, जो महर्षि दुर्वासा, प्रभु दत्तात्रेय जी तमसा तट पर एवं सरजू तट पर स्थित भैरवनाथ आश्रय के मध्य महर्षि दुर्वासा, भैरवनाथ मार्ग पर स्थित है, जो बाबा साधव दास की तपोभूमि हैं | यह आजमगढ़-फैजाबाद मुख्य मार्ग पर स्थित कप्तानगंज बाजार से दुर्वासा मार्ग पर ७ किमी० पर स्थित हैं | आवागमन तथा केन्द्रीय स्थिति के कारण स्थानीय छात्रो के अतिरिक्त बाहर के भी भारी संख्या में छात्र अध्ययन हेतु आते हैं | शिक्षा एवं चिकित्सा क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले युदुकुल उत्तन्न महान क्रांतिकारी श्री अयोध्या के सुपुत्र श्री बाबा साधन दास के महान सेवक श्री झिन्नू यादव ने

 





अपने परिवार की यशस्वी परस्पर के अनुरूप अत्यन्त पिछड़े क्षेत्र कोइनहा ( साधवगंज ) बरसरा खालसा में शिक्षा के विकास हेतु १९६८ में श्री बाबा साधव दास की पुण्य स्मृति में बाबा साधव राम प्राथमिक विदयालय किमी स्थापना की | जो आज सुचारू से संचालित हैं | सन १९७२ में अपनी धर्मपत्नी श्रीमती बच्ची सती एवं ज्येष्ठ पुत्र एवं वर्तमान प्रबन्धक डॉ० दयांशकर यादव की प्रेरणा पर जूनियर हाई स्कूल की स्थापना की गई तथा १९७५ में इसे स्थाई मान्यता शासन द्वारा प्रदान हुई | ११ नवंबर १९७९ को अपने सहयोगी परिवार की सहायता से इण्टरमीडिएट कालेज की स्थापना की गई जो आज तक इस पिछड़े क्षेत्र में लाखों लोगो को शिक्षा प्रदान करता रहा है एवं निरन्तर कर रहा हैं | सन १९७५-७९ के बीच संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय, वाराणसी द्वारा प्रवेशिका से आचार्य तक की मान्यता प्राप्त हुई तथा ‘क’ वर्गीय विदयालय स्थापित हुआ | वर्तमान प्रबन्ध डॉ० द्यांशकर  यादव ने अपने पूज्यनीय पिता जी द्वारा लिए गये दृढ़ संकल्प से प्रेरणा लेकर महाविद्यालय की स्थापना का कार्य वर्ष १९९८ में किया तथा जुलाई १९९९ से स्नातकोत्तर स्तर कार्य आरम्भ हुआ |

 

 

 

Learn more
 
 

Devi syamrathi Mahila Mahavidyalaya, Khalasa Azamgarh

Devi syamrathi Mahila Mahavidyalaya, Khalasa Azamgarh